Wednesday, April 27, 2016

आई है गर्मी की धूम




आई है गर्मी की धूम
सूरज को भी चढा जुनून

टप टप टप टप बहे पसीना
हम बच्चों का मुशकिल जीना

बंद हुये सारे स्कूल
पढ़ना लिखना जाओ भूल




घर के अंदर घुसे रहो बस
चटक धूप से हुये विवस

बादल दादा जल्दी आओ
आकार अपना रंग दिखाओ

ठंडी ठंडी  बूंदे लाओ
झरने सा पानी बरसाओ

पेट दर्द है हुआ बुखार
पिन्की भी है बहुत बीमार

गर्मी का मौसम बेईमान
मुसकिल मे बच्चों की जान

आइसक्रीम भी कितनी खाये
कैसे पापा को समझाये

गर्मी रानी दुम दबाओ
वर्षा की हरियाली लाओ

-कुशवंश